श्री लक्ष्मी आरती – Shree Lakshmi Aarti
श्री लक्ष्मी माता

श्री लक्ष्मी आरती – Shree Lakshmi Aarti

भगवन विष्णु की पत्नी, लक्ष्मी माता हिन्दू धर्म की एक प्रमुख देवी हैं। वह त्रिदेवी (लक्ष्मी, पारवती और सरस्वती) में से एक है। वह धन, सम्पदा, शान्ति और समृद्धि की देवी मानी जाती हैं। दीपावली के दिन उनकी गणेश भगवन के साथ पूजा की जाती है। माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना करने से धन, सम्पदा, शांति और समृद्धि की प्राप्ति होती है।
The Consort Of Lord Vishnu, Lakshmi Mata Is A Major Goddess Of Hinduism. She Is One Of Tridevi (Lakshmi, Parvati And Saraswati). She Is Considered The As Goddess Of Wealth, Peace And Prosperity. On Deepawali, She Is Worshiped Along With Lord Ganesh. Worshiping Goddess Lakshmi Brings Wealth, Peace And Prosperity.

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता |
तुमको निस दिन सेवत, हर विष्णु विधाता ||
उमा रमा ब्रम्हाणी, तुम ही जग माता |
सूर्य चन्द्र माँ ध्यावत, नारद ऋषि गाता ||
दुर्गा रूप निरंजनी, सुख सम्पति दाता |
जो कोई तुम को ध्यावत, ऋद्धि सिद्धि धन पाता ||
तुम पाताल निवासिनी, तुम ही शुभ दाता |
कर्म प्रभाव प्रकाशिनी, भव निधि की दाता ||
जिस घर तुम रहती तहँ सब सदगुण आता |
सब सम्ब्नव हो जाता, मन नहीं घबराता ||
तुम बिन यज्ञ न होता, वस्त्र न कोई पाता |
खान पान का वैभव, सब तुम से आता ||
शुभ गुण मंदिर सुन्दर, क्षीरोदधि जाता |
रत्ना चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता ||
महा लक्ष्मीजी की आरती, जो कोई जन गाता |
उर आनंद समाता, पाप उतर जाता ||
ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता |
तुमको निस दिन सेवत, हर विष्णु विधाता ||

om jay lakshmi mata, maiya jay lakshmi mata |
tumako nis din sevat, har vishnu vidhata ||
uma rama bramhani, tum hi jag mata |
soorya chandrama dhyavat, narad rishi gata ||
durga roop niranjani, sukh sampati data |
jo koi tum ko dhyavat, riddhi siddhi dhan pata ||
tum patal nivasini, tum hi shubh data |
karm prabhav prakashini, bhav nidhi ki data ||
jis ghar tum rahati tahan sab sadagun ata |
sab sambnav ho jata, man nahin ghabarata ||
tum bin yagya na hota, vastra na koi pata |
khan pan ka vaibhav, sab tum se ata ||
shubh gun mandir sundar, kshirodadhi jata |
ratna chaturdash tum bin, koi nahin pata ||
maha lakshmiji ki arati, jo koi jan gata |
ur anand samata, pap utar jata ||
om jay lakshmi mata, maiya jay lakshmi mata |
tumako nis din sevat, har vishnu vidhata ||

प्रातिक्रिया दे